करियर के पीक पर पहुंचकर आखिर क्यों सन्यासी बन गए थे सुपरस्टार विनोद खन्ना, आश्रम में साफ करने लगे थे टॉयलेट

अपनी शानदार एक्टिंग से लोगों का दिल जीतने वाले मशहूर अभिनेता विनोद खन्ना ने बहुत कम समय में हिंदी सिनेमा में एक मुकाम हासिल कर लिया था. आपको बता दे कि विनोद खन्ना की डायलॉग डिलीवरी बहुत ही जबरदस्त थी. ऐसे में उनके साथ फिल्म जगत के बड़े-बड़े कलाकार काम करना चाहते थे.

इतना ही नहीं फिल्ममेकर विनोद खन्ना को लेकर यह भी कहते हैं कि वह अगर अपनी फिल्मी दुनिया को सीरियस लेते तो आज वह अमिताभ बच्चन से बड़े सुपरस्टार होते. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि विनोद खन्ना ने करियर के पीक पर पहुंचकर फिल्मी दुनिया से दूरी बना ली और सन्यास ले लिया. आइए जानते हैं विनोद खन्ना ने ऐसा आखिरकार क्यों किया??

बता दे विनोद खन्ना का जन्म 6 अक्टूबर 1946 पेशावर पाकिस्तान में हुआ था लेकिन साल 1947 में हुए विभाजन के बाद पेशावर से मुंबई आ गए और यहां पर उन्होंने अपनी पढ़ाई लिखाई की. और फिर बॉलीवुड इंडस्ट्री में कदम रखा. विनोद खन्ना अपने जमाने के हैंडसम अभिनेताओं में से एक थे. विनोद खन्ना के अदाकारी को खूब पसंद किया जाता था. उन्होंने अपने करियर में धर्मेंद्र जैसे बड़े सुपरस्टार से लेकर बड़े अभिनेताओं के साथ काम किया है.

जब विनोद खन्ना ने फिल्मी दुनिया को छोड़ सन्यासी बनने का फैसला लिया तो उनके इस फैसले से सारे लोग चौक गए थे कहा जाता है कि विनोद खन्ना रजनीश आचार्य जी से काफी प्रभावित हुए ऐसे में साल 1975 में रजनीश जी के आश्रम में जाकर सन्यासी बन गए.

कहते हैं कि सन्यासी बनने से पहले विनोद खन्ना कई घंटों तक रजनीश जी के वीडियो देखा करते थे और अकेले ध्यान लगाए बैठे रहते थे. इतना ही नहीं विनोद खन्ना को यह आलम हो चुका था कि वह सोमवार से शुक्रवार अपनी फिल्मों की शूटिंग करते और बाकी दो दिन पुणे में रजनीश जी के आश्रम में समय बिताया करते थे.

फिर विनोद खन्ना की जिंदगी में एक समय ऐसा आया जब धीरे-धीरे उन्होंने फिल्मी दुनिया से किनारा ही कर लिया और फिल्म जगत का स्टारडम छोड़ रजनीश जी के आश्रम में पहुंच गए. जहां पर विनोद खन्ना बगीचे की साफ सफाई का काम करने लगे और इसके बाद उन्हें आश्रम के अंदर स्वामी विनोद भारती के रूप में पहचाना जाने लगा.

लेकिन आपसी मनमुटाव के बाद विनोद खन्ना दोबारा फिल्मी दुनिया में वापस लौट आए और उन्होंने कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया. इसके बाद 27 अप्रैल 2017 को कैंसर की वजह से विनोद खन्ना इस दुनिया को अलविदा कह गए.