IAS और IPS में कौन सी पोस्ट होती है ज्यादा शक्तिशाली और कितनी होती है इनकी सैलरी, यहां पढ़ें

अगर सबसे कठिन परीक्षा की बात की जाए तो UPSC यानी [Union Public Service Commission] का नाम सबसे पहले आता है. यह परीक्षा बेहद मुश्किल होता है लेकिन फिर भी हर साल लाखों की तादात में लोग इस परीक्षा के लिए फॉर्म भरते हैं और इस परीक्षा में सफल होने वाले लोग IAS, IPS और IFS जैसे पदों पर कार्यरत होते हैं.

लेकिन बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो IAS और IPS को एक ही मान लेते हैं और उन्हें इनके बीच के अंदर की जानकारी नहीं होती. इसलिए आज हम आपको IAS और  IPS अधिकारी के बारे में बताने वाले हैं इनमें से कौन सा पोस्ट ऊंचा होता है और इनके बीच क्या अंतर होता है .यह किस पद पर कार्यरत होते हैं या फिर इनकी सैलरी कितनी होती है. आइए जानते हैं सब कुछ??

कौन होता है एक IAS:
IAS जिसका पूरा नाम INDIAN ADMINISTRATIVE SERVICE है. UPSC की परीक्षा में ज्यादा नंबर आने पर IAS पोस्ट की प्राप्ति होती है जिसके जरिए आप ब्यूरोक्रेसी में प्रवेश करते हैं IAS के लिए चुने गए लोगों को विभिन्न मंत्रालयों या जिलों का मुखिया बनाया जाता है.

कौन होता है एक IPS:
वही IPS की बात की जाए तो IPS का पूरा नाम INDIAN POLICE SERVICE है. इसमें अगर पोस्ट की बात की जाए तो आप ट्रेनी IPS से डीसीपी या इंटेलिजेंस ब्यूरो सीबीआई चीफ तक भी पहुंच सकते हैं. बता दे UPSC की परीक्षा के लिए 3 लेवल है जिसमें प्रीलिम्स मेंस और इंटरव्यू शामिल है.

IAS और IPS में अंतर
IAS और IPS में अंतर की बात की जाए तो इन दोनों में सबसे पहला अंतर होता है कि एक IAS अधिकारी हमेशा फॉर्मल ड्रेस में रहता है जिसका कोई ड्रेस कोड नहीं होता, तो वहीं एक IPS अधिकारी को ड्यूटी के दौरान वर्दी पहनना अनिवार्य होता है. दूसरा अंतर यह है कि एक IAS अपने साथ एक या दो बॉडीगार्ड रख सकता है लेकिन एक IPS के साथ पूरी की पूरी पुलिस फोर्स चलती है. मेडल की बात करें तो एक IAS अधिकारी को मेडल से सम्मानित किया जाता है तो वहीं एक आईपीएस अधिकारी को स्वाॅड ऑफ ऑनर अवार्ड से सम्मानित किया जाता है.

IAS और IPS के कार्य
अगर IAS और IPS के काम की बात करें तो एक IAS के कंधे पर पूरे लोक प्रशासन नीति निर्माण और कार्यान्वयन की जिम्मेदारी होती है बल्कि एक IPS अधिकारी अपने क्षेत्र की कानून व्यवस्था बनाए रखने और अपराधों को रोकने की जिम्मेदारी को पूरा करता है.

कितनी मिलती है सैलरी
इनकी सैलरी की बात की जाए तो एक IAS अधिकारी को 56100 से लेकर 2 लाख 50 हजार प्रति माह की सैलरी दी जाती है इसके साथ ही उन्हें और भी कई सुविधाएं भी प्रदान की जाती हैं तो वहीं दूसरी तरफ एक IPS अधिकारी को 56100 से लेकर ₹225000 की सैलरी दी जाती है इन्हें भी कई सारी सुविधाएं प्रदान की जाती है.

IAS और आईपीएस का प्रमोशन:
यहां एक और बात जानना बहुत आवश्यक है कि एक क्षेत्र में सिर्फ एक ही IAS होते हैं और वहीं दूसरी ओर एक क्षेत्र में एक से अधिक आईपीएस भी हो सकते हैं. IAS को उच्च पद का होने के कारण उन्हें किसी भी जिले का डीएम घोषित किया जाता है तो वही उससे नीचे पद का होने के कारण आईपीएस को जिले का एसपी घोषित किया जाता है