8 साल से झेल रही थी निसंतान होने का दुख, फिर दिया एक साथ चार बच्चों को जन्म, देखने के लिए गांव में उमड़ी भीड़

हम लोगों ने अक्सर अपने बड़े बुजुर्गों से यह सुना है कि ईश्वर एक दिन सब की सुनता है. इस दुनिया में प्रत्येक महिला मां बनने का सुख प्राप्त करना चाहती है. हर मां प्रसव पीड़ा से कर अपने बच्चे को जन्म देती है लेकिन कभी कभी कुछ महिलाएं इस सुख से वंचित हो जाती हैं. लेकिन कहते हैं ना कि ईश्वर की लीला अपरंपार है. वह कभी किसी को निराश नहीं होने देता.

एक ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के जनपद सीतापुर गांव से आया है जहां एक महिला ने एक साथ 4 बच्चों को जन्म दिया है. लोग इसे कुदरत का करिश्मा मान रहे हैं. इतना ही नहीं मां के साथ-साथ चारों बच्चे भी सही सलामत है. दरअसल यह करिश्मा उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में देखने को मिला है जहां पर एक महिला गर्भवती थी.

अक्सर ही हम सुनते हैं कि जुड़वा बच्चों ने जन्म लिया है लेकिन यहां इस महिला ने दो-दो जुड़वा बच्चे को जन्म दिया है.  बता दे इस महिला ने 4 बच्चों को जन्म दिया है जिसमें एक बेटा और तीन बेटियां हैं. इतना ही नहीं बल्कि चारों बच्चे पूरी तरह से स्वस्थ हैं. परिजनों की मानें तो बीती रात इस महिला को तेज दर्द शुरू हुआ जिस पर इस महिला को घर वालों ने अस्पताल में ले जाने को सोचे. पर अचानक दर्द बहुत बढ़ने के कारण घर पर इनकी डिलीवरी करनी पड़ी.

लेकिन 4-4 स्वास्थ्य बच्चों को जन्म लेता देख हमारी आपकी तरह उनके परिजनों के भी होश उड़ गए थे. बच्चों के साथ मां मौसम और पिता मुन्नू काफी खुश है. पिता के अनुसार चारों बच्चे पूरी तरह से स्वस्थ और सभी इस वक्त अच्छी देखरेख में है. मां की भी तबीयत अब बिल्कुल नॉर्मल हो गई है.

जन्म के बाद कुछ घंटों के अंतराल पर डॉक्टर को बुलाया गया था जिसमें डॉक्टर ने बच्चों को और मां को पूरी तरह खतरे से बाहर बता दिया है. पिता मुन्नू का कहना है कि उनके घर 3-3 लक्ष्मी एक साथ आई है चार बच्चों के पिता बनकर उनके भाग्य खुल गए हैं यह परिवार ऊपर वाले के इस चमत्कार से बेहद खुश है