बेहद रहस्यमयी हैं यह मंदिर, यहां पुजारी आंखों पर पट्टी बांधकर करते हैं पूजा, ये है मान्यता

हमारे भारत देश में बहुत से ऐसे मंदिर हैं जो अपने चमत्कार और विशेषताओं के लिए जाने जाते हैं. इस मंदिरों में ऐसे बहुत से रहस्य छुपे हुए हैं जिनका अभी तक किसी को भी पता नहीं है. देवभूमि उत्तराखंड में भी कई रहस्यमई मंदिर मौजूद है इन्हीं मंदिरों में से एक है चमोली में स्थित लाटू देवता का मंदिर जो अपने आप में ही एक रहस्य से भरा हुआ है.

ऐसा माना जाता है कि उत्तराखंड के चमोली में स्थित लाटू देवता के मंदिर में जब पुजारी पूजा करता है तो उस दौरान वह मुंह और नाक पर पट्टी बांध लेता है. अगर हम मान्यताओं के मुताबिक देखे तो इस मंदिर में नागराज अद्भुत मणि के साथ रहते हैं. इसे आम लोग नहीं देख सकते इतना ही नहीं बल्कि पुजारी भी अपनी आंखों पर पट्टी बांधकर पूजा करते हैं ताकि वह महान रूप को देखकर भयभीत ना हो जाए.

लाटू देवता के मंदिर में प्रवेश करने के पश्चात पुजारी भी अपनी आंखों पर पट्टी बांध लेते हैं. ग्रामीणों के मुताबिक मंदिर में नागमणि विराजमान है. ऐसा माना जाता है कि मणि के दर्शन करने मात्र आपकी आंखों की रोशनी जा सकती है. इसलिए पुजारी आंख पर पट्टी बांधकर ही मंदिर में प्रवेश करते हैं इतना ही नहीं बल्कि पुजारी के मुंह की गंध तक देवता तक नहीं पहुंचने चाहिए.

इसलिए नाक और मुंह पर पट्टी बांधना अनिवार्य है जब लाटू देवता के मंदिर के कपाट खुलते हैं तो दूर-दूर से उनके भक्त दर्शन के लिए आते हैं उस दिन यहां पर विष्णु सहस्त्रनाम और भगवती चंडिका का पाठ भी किया जाता है. आपको बता दें मंदिर के दरवाजे साल में एक बार वैशाख महीने की पूर्णिमा के मौके पर खोलते हैं. वही मार्गशीर्ष अमावस्या को कपाट बंद कर दिए जाते हैं. लाटू देवता के प्रति लोगों में बड़ी श्रद्धा देखने को मिलती है जो लोग यहां अपनी मनोकामना लेकर आते हैं ऐसा कहा जाता है कि यहां से मांगी मनोकामना पूर्ण होती है.