जज्‍बे को सलाम: नवजात बच्ची को मौ’त के हाथों से छीन लाई डॉक्‍टर, 7 मिनट तक मुंह से सांस देकर बचाई जान

हम सब यह जानते हैं कि डॉक्टर भगवान के रूप होते हैं और वह मरीजों के इलाज के लिए सदैव तैयार रहते हैं. हमारे दैनिक जीवन में हम अक्सर स्वास्थ्य रूपी समस्याओं का सामना करते हैं जो हमारे समझ से परे होती हैं और हमें इन समस्याओं को समझने अथवा ठीक करने के लिए डॉक्टर की मदद लेनी पड़ती है. प्रत्येक डॉक्टर बारीकी से स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं को समझ कर उनका इलाज करते हैं.

प्रत्येक व्यक्ति डॉक्टरों पर काफी भरोसा करता है इसलिए डॉक्टरों को धरती का भगवान भी कहा जाता है. इसी बीच आगरा से एक मामला निकल कर सामने आया है जहां पर एक महिला चिकित्सक ने बहुत ही बारीकी से नवजात शिशु की जान बचाई है.

आज हम आपको जिस मामले से रूबरू कराने जा रहे हैं यह पूरा मामला आगरा के एत्मादपुर से आया है. जहां पर स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात महिला चिकित्सक ने अपने मुंह से सांस देखकर नवजात शिशु की जान बचाई है. सोशल मीडिया पर हर कोई इस महिला चिकित्सक की तारीफ कर रहा है.

जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला 01 मार्च का बताया जा रहा है. महिला चिकित्सक के द्वारा यह मामला सोमवार को सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हुआ था जिसे देखने के बाद हर कोई उस महिला डॉक्टर की जमकर तारीफ कर रहा है. ऐसा बताया जा रहा है कि एत्मादपुर के गांव बुर्ज गंगी निवासी खुशबू को एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया था जहां खुशबू ने एक बेटी को जन्म दिया.

नवजात शिशु का जन्म होने के बाद ही उस बच्ची की तबीयत अचानक बिगड़ने लगी जिसके बाद अस्पताल की डॉक्टर सुरेखा ने नवजात बच्चे की जांच की और बताया कि बच्ची को सांस लेने में दिक्कत हो रही है. इसके तुरंत बाद डॉक्टर ने बच्ची को ऑक्सीजन लगाई पर कोई भी लाख बच्ची को नहीं मिला जिसके बाद डॉक्टर सुरेखा ने नवजात शिशु को अपने मुंह से सांस लेकर उसकी जिंदगी बचाई.

बता दें कि उस नवजात शिशु की मां अपने बच्चे की किलकारी सुनने के लिए बेहद  थी और वह एक टक डॉक्टर की तरफ उम्मीद भरी निगाहों से देख रही थी. डॉक्टर लगातार 7 मिनट तक उसे सांस देती रहे. आखिरकार उनके द्वारा किया गया कोशिश सफल रहा जिसके बाद नवजात की हालत में सुधार हुआ और फिर वहां सभी लोगों ने राहत की सांस ली. जिस बहादुरी और समझ से डॉक्टर सुरेखा ने इस नवजात शिशु की जान बचाई उनके लिए एक लाइक तो बनता है.