बालाजी मंदिर से चोरी बेशकीमती मूर्तियां लौटा गया चोर, चिट्ठी में लिखा ”सपने में आते हैं भगवान” डर लगता है..

हम लोगों को अक्सर सोशल मीडिया के जरिए कुछ ऐसी खबर देखने व सुनने को मिलती है जिसे जानने के बाद हम आश्चर्य रह जाते हैं. अक्सर हम सब ने चोरी जैसी घटनाओं के बारे में सुना होगा. चोरी एक अपराध है किसी को भी छोटी चोरी भी नहीं करनी चाहिए क्योंकि छोटी चोरी करते करते  चोर एक दिन बड़ा अपराधी बन जाता है. क्या आप सभी लोगों ने कभी ऐसा सुना है कि चोरों ने कोई चीज चुराई हो और चोरी किया गया सामान वापस लौटा दे इतना ही नहीं बल्कि सम्मान लौटाने के साथ ही चोरों ने माफी भी मांगी है.

यह भी पढ़ें: जूस की दुकान से शुरू किया था गुलशन कुमार ने अपना करियर, फिर ऐसे बने संगीत के सबसे बड़े बादशाह

जी हां यह पूरा मामला उत्तर प्रदेश के चित्रकूट से सामने आया है जहां बहुचर्चित बालाजी मंदिर से लाखों की मूर्ति चोरी हुई थी. दरअसल चोरी करने के बाद चोरों ने चुराई गई मूर्ति को वापस लौटा दिया और पत्र लिखकर माफी मांगी. ऐसा इसलिए क्योंकि चोरों को डरावने सपने आते थे भले ही यह बात सुनने में आपको थोड़ी अजीब लग रही हो परंतु यह मामला सच है.

यह भी पढ़ें: जोधपुर का अनोखा परिवार, गाय बछड़ों के साथ रहते हैं घर के अंदर, मानते हैं परिवार का सदस्य

बता दे यहां के सदर कोतवाली क्षेत्र के तिराहा स्थित ऐतिहासिक बालाजी मंदिर से चोरी हुई. बेशकीमती 16 मूर्तियां चोर लौटा दो प्राचीन 16 मूर्तियों में 14 मूर्तियां नाटकीय ढंग से महंत के आवास के पास पाई गई. मूर्तियों के पास एक चिट्ठी भी लिखी हुई मिली जिसमें लिखा था कि रात में सपने आते हैं और डर की वजह से वह सब मूर्तियां लौटा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: आधी शर्ट उतार कर चलना कंगना को पड़ा भारी, हुई उप्स मोमेंट का शिकार, दर्शकों ने जमकर किया ट्रोल, वीडियो हुआ वायरल

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले में यहां के सदर कोतवाली क्षेत्र में प्राचीन बालाजी मंदिर से 9 मई को 14 अषटधातु की मूर्तियां चुरा कर ले गए लेकिन रविवार को एक चिट्ठी के साथ महंत के आवास के बाहर जो सारी मूर्तियों छोड़ कर चले गए.  मूर्तियों के पास ही एक पत्र भी मिला जिसमें लिखा था उन्हें रात में सपने आते हैं और डर के कारण वह ये मूर्तियां लौटा रहे हैं. चोरों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम का गठन किया गया है.

यह भी पढ़ें: शादी के 42 साल बाद दूल्हा बैंड-बाजा और बारात के साथ पत्नी को लाने पहुंचा ससुराल, उसके 8 बेटा-बेटी बने बाराती

कोतवाली राजीव कुमार सिंह ने बताया कि कानूनी कार्यवाही की जा रही है. सदर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक सचिव राजीव कुमार सिंह ने बताया कि चोरी की गई 16 में से 14 मूर्तियां रविवार को रहस्यमय तरीके से महंत राम बालक दास के द्वार के बाद एक बोरी में बरामद हुए. उन्होंने बताया कि मूर्तियों के साथ चोरों की एक चिट्ठी भी मिली. फिलहाल सभी 14 मूर्तियां कोतवाली में जमा करवा ली गई है और मामले की जांच आगे की जा रही है.