डॉक्टरों ने कर दिया था बच्चे को मृत घोषित, मां ने किया कुछ ऐसा कि चलने लगी बच्चे की सांसे

दुनिया में आए दिन कुछ ना कुछ नए चमत्कार होते रहते हैं जिसे जानने के बाद हमें आश्चर्य होता है. ऐसा भी कहा जाता है कि दुनिया में आज भी भगवान मौजूद है जिसके कारण आज भी लोगो में भगवान के प्रति आस्था और प्रेम देखने को मिलता है. आज भी कई ऐसी खबरें सामने आती हैं उसको सुनने के बाद विश्वास कर पाना मुश्किल हो जाता है कई बार तो हमें सोच में पड़ जाते हैं क्या यह बात सच है या नहीं??

इस दुनिया में सबसे बड़ा सच है वह है मृत्यु.. क्योंकि इस दुनिया में जिस व्यक्ति ने जन्म लिया है उसे एक ना एक दिन मृत्यु अवश्य आनी है.. क्या आपने कभी सुना है कि मृत इंसान फिर से जीवित हो गया हो लेकिन वह कहते हैं ना इंसान का जन्म और मरण दोनों ही सिर्फ भगवान के हाथ में होता है. एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसको सुनने के बाद आप आश्चर्य हो जाएंगे..

आपको बता दें यह घटना हरियाणा का है. इस घटना को सुनने के बाद आपको एक फिल्म की कहानी की तरह लगेगा. मगर यह कोई काल्पनिक कहानी नहीं बल्कि सच्चाई है. यहां एक मरा हुआ बच्चा अपनी मां की पुकार सुनकर दोबारा से जीवित हो गया है लोग इसे किसी चमत्कार से कम नहीं मान रहे हैं.

आपको बता दें कि पूरा मामला हरियाणा के बहादुरगढ़ का है जहां डॉक्टर ने एक छोटे से बच्चे को मृत घोषित कर दिया था और घर वालों के तरफ से अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू हो गई थी तभी अचानक से बच्चे की सांसे चलने लगी और वहां मौजूदा सभी लोग इसे देखकर हैरान रहेग. दिल्ली में बच्चे के इलाज के दौरान 26 मई को वहां के डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था जिसके बाद उनके परिजन उस बच्चे को लेकर अपने शहर बहादुरगढ़ आ गए.

अपने छोटे से बच्चे के मृत शरीर को देखकर उनकी मां का रो-रो कर बुरा हाल हो गया था. मां अपने बच्चे के सर को चुम-चुम कर बुरी तरह से रो रही थी और वह बच्चे को बार बार कह रही थे उठ जा मेरे बच्चे.. इस दौरान जो हुआ उसे देखने के बाद वहां मौजूदा सारे लोग आश्चर्यचकित रह गए.. मां की पुकार सुनकर बच्चे की अचानक से सांसे चलने लगी और यह अनोखा चमत्कार देखने को मिला जिसकी चर्चा चारों ओर होने लगी.

वहां मौजूदा सारे लोगों ने देखा कि बच्चे के शरीर में हलचल हो रही है और उन्होंने तुरंत उस बच्चे को ले जाकर निजी अस्पताल में भर्ती कराया. निजी अस्पताल में 20 दिनों के इलाज के बाद बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ हो गया. उस बच्चे के ठीक होकर घर पहुंचने पर पूरे गांव में खुशी का माहौल है. गांव में मौजूद सभी लोगों का यही मानना है कि यह घटना किसी चमत्कार से कम नहीं है. यह सब ईश्वर की मर्जी से हुआ है जिससे एक मां को उसका बच्चा दोबारा मिल गया.