सूरत के ऐसे हीरा व्यापारी जिन्होंने अब तक 3000 बेसहारा लड़कियों का किया कन्यादान, 9 साल से कर रहे हैं यह पुण्य काम

हमारे भारत देश में बच्चों को ईश्वर का रूप माना जाता है और लड़कियों को मां लक्ष्मी अथवा मां दुर्गा का रूप माना जाता है. मगर आज भी भारत में ऐसे रूढ़िवादी मानसिकता के लोग पाए जाते हैं जो बेटियों के जन्म को बोझ समझते हैं. मगर आज हम एक ऐसे शख्स की बात करने जा रहे हैं जो उन गरीब बच्चियों के लिए मसीहा बनकर आए हैं. जी हां हम बात करने वाले हैं गुजरात के हीरा व्यापारी महेशभाई सवानी की जिन्होंने अब तक 3000 बेसहारा लड़कियों का कन्यादान किया हैं.

9 साल से कर रहे हैं यह पुण्य काम

आपको बता दें कि महेशभाई सवानी पिछले 9 साल से इस पुण्य काम को करते आ रहे हैं. इस दौरान उन्होंने कुल 3124 बेसहारा लड़कियों की शादी करवाई है. वह हर साल एक सामूहिक विवाह करवाते हैं जिसमें धर्म और जातिवाद का कोई बंधन नहीं होता.

इसे भी पढ़ें-: सोशल मीडिया पर वायरल हुआ भगवान गणेश जैसा दिखने वाला बच्चा, दर्शक कमेंट सेक्शन में लगा रहे जय जयकार

शादी के बाद भी रखते हैं ख्याल

महेश भाई बेटियों की शादी तक ही नहीं बल्कि शादी के बाद भी उनका अपनी बेटियों की तरफ ख्याल रखते हैं तथा उनके बच्चों के जन्म, पढ़ाई तथा इलाज का खर्चा भी स्वयं उठाते हैं. महेश भाई यह कोशिश करते हैं कि सभी बच्चियों को सरकारी योजनाओं का लाभ अवश्य मिल सके.

इसे भी पढ़ें-: नहीं दे सकती थी बच्चों को जन्म, शादी के 7 साल बाद इस विधि के जरिए मां बनी थी नीता अंबानी

आपात बैंक कोष योजना

महेश भाई शादी करवाने के बाद बच्चियों के अच्छे और सुरक्षित भविष्य की पूरी कोशिश करते हैं. उन्होंने हाल ही में एक आपात बैंक योजना की स्थापना भी की है जिसमें उनके द्वारा ब्याही गई बेटियों की तरफ से हर महीने ₹500 जमा करने होते हैं. यहां तक कि वह यह भी कोशिश करते हैं कि उनकी जितनी भी दामाद हैं उन सब को भी रोजगार मिले और वह खुशी खुशी अपना जीवन संपन्न करें. वाकई महेशभाई सवानी एक बेहद ही नेक कार्य कर रहे हैं आशा करते हैं कि भगवान उनकी सारी मनोकामना पूर्ण करें.

इसे भी पढ़ें-: शादी के 35 साल बाद मां बनने का मिला सौभाग्य, 55 साल की उम्र में दिया 3 बच्चों को जन्म