सुधा चंद्रन: 17 साल की उम्र में गवाया एक पैर, नकली पैर लगाकर अपने काम से बनाई पहचान

सुधा चंद्रन छोटे पर्दे की लोकप्रिय अभिनेत्री हैं. इन्होंने अपने शानदार अभिनय से घर-घर में अपनी एक अलग पहचान बनाई है. बता दे कि सुधा अपने नकारात्मक किरदारों के लिए ज्यादा जाने जाती हैं. आपको शायद ही पता हो कि अभिनय करने के साथ-साथ सुधा एक कुशल भरतनाट्यम नर्तकी भी है. सुधा चंद्रन जिस मुकाम पर है उसे हासिल करना शायद इतना आसान नहीं था इसके लिए सुधा को बहुत कड़ी मेहनत करनी पड़ी हैं.

इसे भी पढ़ें-: उतरन की छोटी ‘तपस्या’ अब हो चुकी है बड़ी, खूबसूरती के मामले में बड़ी अभिनेत्रियों को देती है मात

बता दें कि महज 17 साल की उम्र में एक हादसे के दौरान सुधा को अपना एक पैर गंवाना पड़ा. सुधा ने इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें लगा था कि वह फिर कभी अपने जीवन में चल नहीं पाएंगी और डांस नहीं कर पाएंगी लेकिन एक फिजियोथैरेपिस्ट की मदद से उन्हें एक नकली पैर मिला जिसकी बदौलत उन्होंने सिनेमा जगत और डांस की दुनिया में एक बड़ा नाम बनाया. अभी हाल ही में वायरल हुए एक वीडियो में सुधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से अपील करते हुए नजर आई थी.

इसे भी पढ़ें-: शादी के 35 साल बाद मां बनने का मिला सौभाग्य, 55 साल की उम्र में दिया 3 बच्चों को जन्म

सुधा ने अपने इस वीडियो में यह कहा कि वह अक्सर फ्लाइट से ट्रैवल करती हैं और एयरपोर्ट के सिक्योरिटी चेकिंग में उन्हें बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है. उन्हें एयरपोर्ट पर उनका यह  नकली पैर निकालने को कहा जाता है जिसमें उन्हें बहुत ही दिक्कतों का सामना करना पड़ता है.

इसे भी पढ़ें-: कभी लगातार चार बेटियों के जन्म से परेशान हो गए थे पिता, आज चारों बेटियां कर रही है बॉलीवुड पर राज

वायरल हुए वीडियो में सुधा प्रधानमंत्री जी से अपील करती हुई नजर आई थी और उन्होंने यह कहा था कि इस परिस्थिति से जूझते हुए लोगों को प्रोटोकाल के तहत विशेष छूट दी जाएं. सुधा 90 के दशक से टीवी जगत में काम कर रही हैं उन्होंने बहुरानिया, कभी इधर कभी उधर, चन्द्रकान्ता और नागिन में यामिनी की नकारात्मक भूमिका निभाई थी.

इसे भी पढ़ें-: कुलकर्णी परिवार है देश का सबसे लंबा परिवार, लंबी हाइट होने की वजह से विदेश से मंगाने पड़ते हैं जूते