सावन 2022: जानिए कब शुरू हो रहा है सावन, कितने होंगे सोमवार, इन उपायों से करें भोलेनाथ को प्रसन्न

Sawan 2022: सावन का महीना हिंदू धर्म के लिए बहुत महत्वपूर्ण महीना होता है इसमें अनेकों प्रकार के त्यौहार आते हैं जो कि लोग बड़े ही धूमधाम के साथ मनाना पसंद करते हैं. बता दें कि सावन का महीना भगवान शिवजी को अति प्रिय है. सावन मास में भगवान शिव जी और माता पार्वती जी की पूजा का विधान है. हिंदू धर्म में सावन महीने का विशेष महत्व माना गया है. ऐसा माना जाता है कि सावन के महीने में अगर भक्त पूरी निष्ठा और लगन के साथ भगवान शिवजी की पूजा और सोमवार व्रत करता है तो उसकी सारी मनोकामना पूर्ण होती है.

साल 2022 में सावन का पवित्र महीना 14 जुलाई से शुरू हो रहा है और 12 अगस्त को श्रावण पूर्णिमा के साथ इसका समापन हो रहा है. साल का यह समय पूजा-पाठ तब साधना के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण माना गया है. इतना ही नहीं इस महीने में भोलेनाथ की पूजा अर्चना अभिषेक करने से सारी मनोकामना पूरी होती है. अगर आप भी सावन के महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करना चाहते हैं तो इसके लिए कुछ नियमों का पालन करना बेहद अनिवार्य है.

आपको बता दें कि 14 जुलाई 2022 गुरुवार को सावन का पहला दिन है. वही 18 जुलाई 2022 को सावन का पहला सोमवार पड़ रहा है सावन का दूसरा सोमवार 25 जुलाई, तीसरा सोमवार 1 अगस्त और चौथा सोमवार 8 अगस्त को पड़ेगा. सावन का आखिरी दिन 12 अगस्त 2022 शुक्रवार को है.

सावन में ऐसे करें भगवान शिव की पूजा:
सावन के महीने में रोजाना नियमित रूप से भगवान शिव की पूजा करना चाहिए. सावन का महीना भगवान शिव जी को प्रसन्न करने का सर्वश्रेष्ठ महीना माना गया है. इतना ही नहीं बल्कि शिवलिंग का अभिषेक करना भी बेहद लाभकारी होता है. आप सावन के महीने में रोजाना सुबह उठ कर स्नान कर ले उसके पश्चात साफ-सुथरे कपड़े धारण करें. इसके बाद आप घर के मंदिर या फिर भगवान शिव के किसी भी मंदिर में जाकर महादेव के सामने गाय के घी का दीपक जलाएं. दूध और गंगाजल से शिवलिंग का अभिषेक करें.

इतना ही नहीं बल्कि भगवान शिव को सावन मास में पूजा के दौरान धतूर, बेलपत्र, भांग की पतें, दूध, काले तिल और गुड़ आदि अर्पित करना बेहद लाभकारी माना जाता है, ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से भगवान शिव की कृपा सदैव बनी रहती है, आप सावन सोमवार के व्रत करें और इस दिन पूरे विधि विधान से रुद्राभिषेक करें.

सावन में भूलकर भी ना करे यह काम:
1. सावन के महीने में आपको भूल कर भी शराब का सेवन नहीं करना चाहिए.
2. सावन के महीने में अगर संभव हो तो दाढ़ी भी न बनाए और ना ही अपने बाल कटवाए.
3. सावन के महीने में घर परिवार में हर प्रकार के झगड़े विवाद से दूर रहे.
4. अगर आप सावन के सोमवार का व्रत कर रहे हैं तो भूल कर भी उसे बीच में ना छोड़ो ऐसा करना शास्त्रों में गलत माना गया है.
5. सावन के पवित्र महीने में भूल कर भी मासं नहीं खाना चाहिए.
6. सावन के महीने में शरीर पर तेल लगाने की मनाही है.
7. शास्त्रों के अनुसार सावन के महीने में दिन के समय में नहीं सोना चाहिए.
8. सावन के महीने में बैगन का सेवन करने की मनाही होती है. बैगन को अशुद्ध माना जाता है.
9. सावन के महीने में अदरक, लहसुन और प्याज ‌का सेवन करने से दूर रहे.
10.सावन के महीने में भगवान शिव को केतकी का फूल अर्पित नहीं करना चाहिए.