लड़की की जिद के सामने झुका रेलवे, एक सवारी को पहुंचाने के लिए 535 KM तक चली राजधानी एक्सप्रेस, जाने पूरा किस्सा

अगर इंसान मन में कुछ ठान ले तो वह अवश्य पूरा करता है. आज हम आपको एक ऐसी लड़की से रूबरू कराने जा रहे हैं जिसके जिद के आगे रेलवे ऑफिसर्स को हार माननी पड़ी और राजधानी एक्सप्रेस को केवल एक सवारी के लिए 535 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ी.

indian railways

बताया जाता है कि उस लड़की की जिद थी कि वह रांची तक का सफर सिर्फ और सिर्फ राजधानी एक्सप्रेस से ही तय करेगी. आगे लड़की का कहना था कि अगर उन्हें बस से ही जाना था तो ट्रेन का टिकट क्यों करवाती है.. आपको बता दें कि एक मात्र सवारी को लेकर राजधानी एक्सप्रेस रात के 1 बजकर 45 मिनट पर रांची पहुंची..

indian railways

जानकारी के मुताबिक इस लड़की का नाम अनन्या है जो लॉ की पढ़ाई कर रही है. उस ट्रेन में रांची के लिए सवार 930 यात्रियों में 929 यात्रियों ने पहले ही बस से रांची जा चुकी थी लेकिन अनन्या ने बस की सवारी करने से साफ इनकार कर दिया.

indian railways

दूसरे यात्रियों की तरह अनन्या को ट्रेन प्रशासन की आवाज स्वीकार नहीं थी. रेलवे के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ होगा जब एक यात्री के लिए एक ट्रेन को 535 किलोमीटर तक की दूरी तय करनी पड़ी. वहां मौजूद रेलवे अधिकारियों ने अनन्या को बस की जगह कार की भी सुविधा देने की कोशिश की पर अनन्या ने अपनी जिद नहीं छोड़ी. जब यह बात रेलवे चेयरमैन के पास पहुंची तब उन्होंने पूरे सुरक्षा इंतजाम के साथ केवल एक यात्री के लिए ट्रेन चलाने की अनुमति दे दी.

indian railways

रांची की रहने वाली अनन्या ने अपनी बात को मनवाने के लिए 8 घंटे तक संघर्ष किया और अपनी मांग पर डटी रही. अनन्या की यह कहानी हमें अपने जीवन में आत्मनिर्भर होना सिखाती है. अनन्या ने कहा कि वह रेलवे अधिकारियों के हरकतों से काफी नाराज भी थी.

indian railways

अनन्या का यह कहना था कि रेलवे के अधिकारियों ने बिना माफी मांगे सभी यात्रियों को बस से जाने के लिए बोल दिया था. जब अनन्या ने कोरोना महामारी के वक्त अपने साथियों को उल्लंघन करते हुए देखा तब अनन्या ने उस समय आवाज उठाना सही समझा.