अब मदरसों में भी अनिवार्य हुआ राष्ट्रगान, योगी सरकार में अब राष्ट्रगान के बाद ही लगेगी क्लास

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार 2.0 ने अपने प्रदेश के लिए काम करना शुरू कर दिया है. शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बार फिर बहुमत हासिल कर लिया है. ऐसे में सीएम पद की शपथ लेने के बाद अगले ही दिन योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के लिए काम करना शुरू कर दिया है.

ऐसे में योगी सरकार ने अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल के लिए पहली कैबिनेट की बैठक स्थापित की. योगी आदित्यनाथ ने शपथ ग्रहण करने से पहले गुरुवार को उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद ने एक बड़ा फैसला लेते हुए प्रदेश के मदरसों के लिए नए नियमों का ऐलान किया है.

बता दे कि नियमों के मुताबिक अब उत्तर प्रदेश के सभी मदरसों में राष्ट्रगान अनिवार्य कर दिया गया है. मदरसा बोर्ड ने यह नियम मदरसा शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए किया है जिसके बाद अब यूपी में सभी मदरसों में  प्रार्थना के साथ ही राष्ट्रगान का होना भी अनिवार्य होगा.

आपको बता दें कि यह नियम सिर्फ छात्रों पर ही नहीं बल्कि शिक्षकों पर भी लागू होगा. मदरसों की शिक्षा में सुधार करने के लिए बोर्ड ने और भी कई अहम फैसले लिए. दरअसल मदरसों में भी शिक्षकों की उपस्थिति के लिए बायोमेट्रिक सिस्टम लागू किया जाएगा.

इतना ही नहीं मदरसों की परीक्षाओं को लेकर भी बैठक में फैसला हुआ कि मुंशी, मौलवी, आलिम, कामिल और फाजिल की परीक्षाएं भी 14 से 27 मई के बीच में की जाएगी. इस बैठक में इस बात का भी खुलासा किया गया कि मदरसों में दीनी सिलेबस के साथ हिंदी, अंग्रेजी, गणित विज्ञान जैसे अन्य विषयों की भी परीक्षा होगी.