मिलिए भारत के 8 सबसे अमीर भिखारीयो से, किसी के पास है 70 लाख का फ्लैट तो कोई है करोड़ों की संपत्ति का मालिक

आज के समय में देश के लगभग हर चौराहे और रोड पर आपको भीख मांगते कई भिखारी नजर आते हैं जिन्हें आप लोग शायद रहम करके कुछ पैसे दान में दे देते हैं. लेकिन आज हम आपको भिखारी के बारे में बताएंगे जो दरअसल भारत के सबसे अमीर भिखारी को में शामिल है. यह भिखारी सभी प्रकार के सुख सुविधाओं से संपन्न है पर इनके बच्चे बड़े-बड़े कान्वेंट स्कूल में पढ़ते हैं, जिनके पास अपना खुद का बड़ा बिजनेस, दुकानें और यहां तक की बैंक मैं करोड़ों रुपए भी है. आइए जानते हैं भारत के 8 ऐसे भिखारियों के बारे में..

भरत जैन
भरत जैन मुंबई के परेल पर रोज 8 से 10 घंटे भीख मांगते हैं और महीने के करीब ₹65000 कमा लेते हैं जो कि वहां के मुख्यमंत्री की पगार से भी अधिक है. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि भरत जैन के पास 70-70 लाख के दो फ्लैट भी हैं. भरत भांडुप इलाके में एक जूस की दुकान के मालिक भी हैं इन दुकानों से लगभग ₹10000 महीने का किराया भी मिलता है. भरत के परिवार में उनके पिता और बीवी बच्चे हैं.

पप्पू कुमार
पप्पू कुमार पटना से बिलॉन्ग करते हैं आपको जानकर आश्चर्य होगा कि पप्पू कुमार का बैंक बैलेंस एक करोड़ से भी ऊपर है. फिर भी यह लोगों से यह कह कर भीख मांगते हैं कि कई दिनों से इन्होंने कुछ खाया पिया नहीं है. अक्सर लोग इनकी हालत देखकर और इन पर तरस खाकर इन्हें पैसे दान में दे देते हैं. पप्पू कुमार अपनी लड़के को इंग्लिश मीडियम स्कूल से पढ़ा रहे हैं.

मासु
मासु के बारे में बात करें यह जनाब फिल्म स्टूडियो में कपड़े बदलकर ऑटो से भीख मांगने वाली जगह पर पहुंचते हैं. मासू मुंबई के परेल से ताल्लुक रखते हैं. यहां मासु का खुद का एक कमरे का फ्लैट है इतना ही नहीं मासु ₹300000 की संपत्ति के मालिक भी हैं. परिवार वालों के समझाने के बाद भी यह अपने फैशनेबल तरीके से भीख मांगना नहीं छोड़ते हैं.

कृष्ण कुमार गीते
आपको बता दें कि कृष्ण कुमार मल्लुसपूरा में रहते हैं और यह दिन में 8 से 10 घंटे भीख मांगने का काम करते हैं. यह महीने में लगभग 25 से 30000 कमा लेते हैं. इसके अलावा कृष्ण कुमार के पास बैंक में लाखों रुपए जमा है.

शावित्रीया देवी
आपको जानकर आश्चर्य होगा कि यह भारत की सबसे प्रसिद्ध महिला भिखारी हैं. यह पटना से ताल्लुक रखती हैं यहां तक की यह सालाना ₹36000 एलआईसी प्रीमियम का भुगतान भी करती है. भीख से हुई आमदनी से इन्होंने अपनी बेटी की शादी की है दिलचस्प बात तो यह है कि यह 7 तीर्थ यात्रा समेत विदेश यात्रा भी कर चुकी हैं.

संभाजी काले
संभाजी काले मुंबई के स्लम क्षेत्र विरार से ताल्लुक रखते हैं. संभाजी भीख मांग कर रोज 1500 से ₹2000 की कमाई कर लेते हैं. इसके अलावा इनके पास खुद के दो घर और प्लॉट भी हैं और तो और उन्होंने बैंकों में भी निवेश कर रखा है.

हाजी
हाजी मुंबई से ताल्लुक रखते हैं इनकी रोज की कमाई 2000 से ₹3000 है. इनके पास खुद का घर और साथ ही लगभग 1500000 तक के प्लॉट भी हैं. इतना ही नहीं हाजी का खुद का जरी का कारखाना है जहां 15 लोग काम करते हैं. अपने परिवार के लाख समझाने के बाद भी काम नहीं छोड़ते हैं.

लक्ष्मी दास
लक्ष्मीदास सबसे बुजुर्ग भिखारी मानी जाती हैं. लक्ष्मीदास 1964 में महज 16 साल की उम्र से भीख मांगती चली आ रही है. लक्ष्मी दास को पोलियो है और इन्होंने भीख मांग-मांग कर मोटा बैंक बैलेंस बना रखा है अभी हाल ही में उन्हें बैंक का क्रेडिट कार्ड इशू हुआ है. [Image Source; Google]