शादी बनी मिसाल, दुल्हन के विकलांग होने के बावजूद दूल्हे ने रचाई शादी, समाज को दिया यह संदेश

आप सभी ने शाहिद कपूर और अमृता राव की फिल्म विवाह तो देखी ही होगी. इस फिल्म की शानदार कहानी ने दर्शकों को अपना दीवाना बना लिया था. इस फिल्म की स्टोरी यह होती है कि दुल्हन बनने वाली अमृता अपनी शादी के दिन अपने चचेरी बहन की जान बचाने के खातिर आग में गंभीर रूप से झुलस जाती हैं. इतना सब होने के बावजूद शाहिद कपूर अमृता से ही विवाह करते हैं और समाज को एक नया संदेश देते हैं.

एक ऐसा ही मामला यूपी के प्रतापगढ़ जिले में देखने को मिला है जहां दुल्हन की पीठ की हड्डी टूटने के बावजूद दूल्हे ने दुल्हन से विवाह कर समाज में एक नई मिसाल कायम की है. आपको बता दे जानकारी के मुताबिक यह मामला प्रतापगढ़ के कुंडा नगर इलाके का है. इस लड़की का नाम आरती है जिसकी शादी 8 मार्च को तय हुई थी. घर में चारों तरफ बारात की तैयारियां चल रही थी. 6 मार्च को आरती छत पर खेल रहे अपने भतीजे को बचाने के चक्कर में छत से नीचे आ गिरी और उनकी रीढ़ की हड्डी टूट गई.

इस घटना के पश्चात परिजनों ने आरती को तुरंत प्रयागराज के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया. वायरल हुई तस्वीर में नजर आ रहा युवक का नाम अवधेश है और बेड पर लेटी हुई उसकी पत्नी आरती है. घटना के बाद जब अवधेश को पूरे मामले की जानकारी हुई तब ससुराल वालों ने दुल्हन की छोटी बहन से शादी करने का प्रस्ताव रखा लेकिन अवधेश ने साफ साफ मना कर दिया और कहा कि वह सिर्फ और सिर्फ आरती से ही शादी करेगा.

चाहे कुछ भी हो जाए और जिंदगी भर उसका साथ निभाएगा. डॉक्टरों से बात करके आरती को एंबुलेंस में 1 दिन के लिए कुंडा लाया गया और फिर अगले ही दिन शादी की रस्में निकाल कर उसे वापस अस्पताल में भर्ती कर दिया गया. अवधेश और आरती दोनों समाज के लिए एक खूबसूरत उदाहरण है. जहां अक्सर लोग मुकर जाते हैं वहां अवधेश ने जिंदगी भर अपनी पत्नी का साथ निभाने का वादा किया. दोनों के परिवार वाले इस रिश्ते से बेहद खुश हैं. सच में अवधेश ने आरती से शादी कर एक नई मिसाल कायम की है.