ग्वालियर में बिजली विभाग ने शख्स को थमाया 34 अरब का बिल, शख्स के उड़े होश; अस्पताल में भर्ती, जाने पूरा किस्सा

वैज्ञानिक ने मनुष्य को अनेक वरदान अविष्कार के रूप में दिए हैं जिनमें से बिजली भी एक वरदान है. हमारे जीवन में बिजली का बहुत महत्व है. मौजूदा समय में बिजली हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग बन चुकी है. आजकल के समय में घर में बिजली का प्रयोग काफी तेजी से बढ़ने लगा हैं.

आज के समय में अगर थोड़ी देर के लिए भी बिजली चली जाती है तो लोगों को बहुत समस्या उत्पन्न होती है. अक्सर ऐसा भी देखा गया है कि लोग बिजली का इस्तेमाल तो कर लेते हैं परंतु कई बार बिल इतना ज्यादा हो जाता है कि अभी उनके लिए एक समस्या का कारण बन जाता है.

आप ही सोचिए जरा अगर किसी के बिजली का बिल हजारों, लाखों, करोड़ों में नहीं बल्कि अरबों रुपए में आए तो आप की क्या हालत होगी?? ठीक कुछ ऐसा ही हुआ है मध्य प्रदेश के ग्वालियर में जहां पर बिजली विभाग की एक बड़ी गलती की वजह से शख्स की तबीयत इतनी ज्यादा खराब हो गई कि उनको इलाज के लिए अस्पताल में एडमिट कराना पड़ा.

पूरा मामला मध्य प्रदेश के ग्वालियर का है जहां पर एक बिजली कंपनी ने एक परिवार का बिजली बिल गलत भेज दिया जिसमें 3419 करोड़ की रकम छपी हुई देखकर शख्स को तगड़ा झटका लगा और वह बीमार पड़ गए. फिलहाल मध्य प्रदेश सरकार की ओर से संचालित बिजली विभाग ने गलत बताया है

वहीं शहर के शिव विहार कॉलोनी के निवासी गुप्ता परिवार को राहत देते हुए उन्हें 1300 रुपए का एक सही बिल जारी किया है..प्रियंका गुप्ता और उनके पति संजीव ने ऐसा बताया कि जुलाई के लिए घरेलू खपत के लिए बिजली बिल पर करोड़ों की रकम देखकर उनके पिताजी बीमार पड़ गए.

संजीव के मुताबिक 20 जुलाई को जारी किए गए बिल को मध्य प्रदेश विद्युत वितरण कंपनी के पोर्टल के माध्यम से कराने पर सही पाया गया. आपको बता दें कि यह मामला सोशल मीडिया पर सुर्खियों में छाया हुआ है. इतना ही नहीं बल्कि कई लोग इस लापरवाही पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए नजर आ रहे हैं.