अगर न करते हैं यह गलतियां तो आज भी बॉलीवुड के हीरो नंबर 1 होते गोविंदा, इन 5 गलतियों ने दिखाया बॉलीवुड से बाहर का रास्ता

90 के दशक में बॉलीवुड में गोविंदा का बोलबाला था। वह बॉलीवुड के सुपर स्टार बन चुके थे। उनकी हर फिल्म लगभग सुपरहिट होती थी।बॉलीवुड का हर डायरेक्टर और प्रोड्यूसर उनके साथ काम करना चाहता था। मशहूर डायरेक्टर डेविड धवन के साथ उनकी जोड़ी खूब जमी.

इन दोनों ने करीब 17 फिल्मों में एक साथ काम किया और लगभग सारी फिल्में हिट रही। लेकिन बढ़ते स्टारडम और कामयाब कैरियर के कारण गोविंदा में थोड़ा अहंकार आ गया था। वह अक्सर फिल्मों के सेट पर देर से पहुंचते थे। इसकी वजह से उन्हें अमिताभ बच्चन से डांट भी खानी पड़ी थी। आइए जानते हैं उन की 5 बड़ी गलतियां!

सलमान खान से दुश्मनी-: गोविंदा का कैरियर जब ढलान पर जा रहा था उस दौरान सलमान का कैरियर तेजी से उभर रहा था। गोविंदा सलमान की लाइमलाइट से फीके पड़ रहे थे। देखते ही देखते सलमान बॉलीवुड के गॉडफादर बन गए और गोविंदा उनसे पिछड़ गए। हालांकि दोनों ने एक साथ एक फिल्म पार्टनर में भी काम किया था। लेकिन बताया जाता है कि सलमान ने गोविंदा की बेटी टीना को बॉलीवुड में लांच करने में मदद नहीं की जिसकी वजह से दोनों में मनमुटाव हो गया।

स्टारडम का घमंड-: एक दौर में गोविंदा ने एक साथ 70 फिल्में साइन की थी। आप बस इसी बात से उनकी स्टारडम का अंदाजा लगा सकते हैं। लेकिन यही स्टारडम गोविंदा के सर पर चढ़ गया था। वह अक्सर सेट पर देर से आया करते थे। वह फिल्मों की कहानी के अनुसार नहीं बल्कि अपने किरदार के अनुसार डिमांड करते थे। यही नहीं बड़े मियां छोटे मियां फिल्म के सेट पर उन्हें देर से पहुंचने की वजह से अमिताभ बच्चन से डांट भी खानी पड़ी थी।

डेविड धवन से झगड़ा-: डेविड धवन और गोविंदा एक समय में बॉलीवुड की सबसे सुपरहिट निर्देशक एक्टर की जोड़ी मानी जाती थी। इस जोड़ी ने करीब 17 फिल्मों में काम किया है और लगभग सारी फिल्में सुपरहिट रही है। लेकिन धीरे-धीरे गोविंदा की फैन फॉलोइंग में गिरावट आने लगी और प्रोड्यूसर्स ने उनकी फीस कम करनी शुरू कर दी। इसी बात को लेकर उनसे डेविड धवन से झगड़ा हो गया और आज तक दोनों में कभी बात नहीं हुई।

राजनीति में एंट्री-: इंडस्ट्री से लगभग आउट हो चुके गोविंदा ने राजनीति का सहारा लिया। उन्होंने 2004 में कांग्रेस की तरफ से लोकसभा चुनाव भी लड़ा और एक बड़े बीजेपी लीडर को हराने में कामयाब भी रहे। इसके अलावा राजनीति में कुछ खास नहीं कर पाए। गोविंदा यह भी मानते हैं कि अगर वह राजनीति में नहीं गए होते तो आज भी वह बॉलीवुड के सुपरस्टार होते।

नहीं किया खुद में बदलाव-: 90 का दशक खत्म होते होते बॉलीवुड में एक्शन फिल्में बना शुरू हो गई थी। दर्शक भी अब किसी थुलथुले हीरो के नहीं बल्कि सिक्स पैक एब्स वाले एक्टर को पसंद करते थे। लेकिन गोविंदा ने समय के अनुसार अपने शरीर में बदलाव नहीं किया और वह ऐसे ही थुलथुले बने रहे। इसकी वजह से उन्हें और काम मिलना बंद हो गया। कभी एक जमाने में बॉलीवुड की हीरो नंबर वन रहे गोविंदा अब इंडस्ट्री से आउट हो चुके हैं। हालांकि वह कभी कभार किसी रियलिटी शो में जज की कुर्सी पर दिखाई पड़ते हैं।

यह भी पढ़ें-: