अगर आप भी खाते हैं पेरासिटामोल.. तो खाने से पहले पढे यह खबर, नहीं तो हो जाएगी दिक्कत

कोरोना महामारी के दौरान पेरासिटामोल टेबलेट का इस्तेमाल बहुत तेजी से बढ़ा है. आपको बता दें कि एक रिसर्च में यह सामने आया है कि इसका ज्यादा इस्तेमाल करने से आपकी जान जोखिम में पड़ सकती है. इसके रोजाना इस्तेमाल से ब्लड प्रेशर दिल का दौरा और स्टॉक का खतरा बढ़ जाता है.

पेरासिटामोल टेबलेट लेने से पहले डॉक्टर से ले सलाह
जिस व्यक्ति को हार्ड अटैक और स्ट्रोक की समस्या है वह पेरासिटामोल टेबलेट उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

110 रोगियों पर हो चुका है रिसर्च
आपको बता दें कि इसका रिसर्च एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के एक्सपोर्ट्स ने हाई ब्लड प्रेशर वाले मरीजों पर किया और मरीजों को 2 सप्ताह तक पेरासिटामोल टेबलेट दिन में 4 बार दिया गया. 4 दिन बाद जब इसकी जांच की गई तो इन रोगियों का ब्लड प्रेशर काफी बढा पाया गया. ब्लड प्रेशर हाई होने की वजह से इन मरीजों में दिल का दौरा पड़ने की संभावना तकरीबन 20 प्रतिशत तक बढ़ गया.

पेरासिटामोल टेबलेट का कभी-कभी इस्तेमाल ठीक
आपको बता दें कि एन एच एस लोथियन में क्लीनिकल फार्मोकोलॉजी और नेफ्रोलॉजी में सलाहकार लीड जांचकर्ता डॉक्टर यान मैकिनटायर ने कहा है कि पेरासिटामोल टेबलेट का प्रयोग सिर दर्द, बुखार के लिए कभी-कभी इस्तेमाल किया जाना चाहिए. लेकिन जो लोग आमतौर पर पुराने दर्द अथवा जख्म के लिए लंबे समय तक नियमित रूप से लेते हैं उनके लिए यह खतरा का विषय है.

डॉक्टरों को भी सतर्क रहने की जरूरत
रिसर्च के दौरान जब लोगों को पेरासिटामोल देना बंद कर दिया गया तो उनका ब्लड प्रेशर काफी नॉर्मल हो गया. इसलिए डॉक्टरों के लिए भी यह महत्वपूर्ण है कि नियमित रूप से पेरासिटामोल लेने वाले मरीजों को इसके रिस्क के बारे में जरूर बताएं..

यह भी पढ़ें-: