50 साल बाद घर में जन्मी बेटी, घर वालों ने गाने-बाजे के साथ किया स्वागत, रास्ते में बिछाए फूल

हम लोगों ने बड़े बुजुर्ग से अक्सर ऐसा सुना है कि पहले के जमाने में जब कभी किसी के घर बेटी पैदा होती थी कि लोग बेहद दुखी होते थे क्योंकि लोग बेटा चाहते थे क्योंकि बेटा उनके वंश को आगे ले जाने में उनकी मदद करेगा. लेकिन अब ऐसा नहीं है अब जमाना बदल गया है और लोग बेटी को उतना ही प्यार करते हैं जितना बेटे से.. अब किसी के घर पर अगर बेटी जन्म लेती है तो लोग उसका खुशी-खुशी घर में स्वागत करते हैं.

home-born-daughter-after-50-years-family-members-welcomed-with-songs-flowers-were-laid-on-the-way-okk

आज हम आपको मेहगांव  सुशील शर्मा के घर की बात करेंगे जिनके घर लगभग 50 सालों बाद बेटी ने जन्म लिया है और उनके घर खुशियां ही खुशियां आयी हैं. सुशील शर्मा को जब इस बात की खबर मिली कि उनके यहां बेटी पैदा हुई है तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. सुशील शर्मा ने अपनी बेटी का घर में ऐसा स्वागत किया जिसे देखकर वहां उपस्थित सारे लोग दंग रह गये.

home-born-daughter-after-50-years-family-members-welcomed-with-songs-flowers-were-laid-on-the-way-okk

सुशील शर्मा ने अपने पूरे घर को फूलों से सजा दिया था और फूलों की बौछार करके अपनी बेटी का घर में स्वागत किया. उन्होंने अपनी बेटी के स्वागत के लिए पूरे गांव को निमंत्रण दिया था. इतना ही नहीं इसके साथ उन्होंने बेटी का तुलादान भी कराया और बैंड बाजा लगाकर जोरदार स्वागत किया. जिसे देखकर वहां उपस्थित सारे लोग आश्चर्यचकित रह गए.

home-born-daughter-after-50-years-family-members-welcomed-with-songs-flowers-were-laid-on-the-way-okk

सुशील शर्मा ने कहा कि उनकी कोई बहन नहीं थी जिस वजह से उनकी हमेशा से यही इच्छा थी कि उनके घर एक बेटी जन्म ले और खुद सुशील शर्मा को जब बेटी हुई तो वह इससे बेहद खुश हैं.

इतना ही नहीं मेहगांव कस्बे में बेटी के जन्म के बाद प्रवेश उत्सव भी मनाया गया. समाज सेवी संस्थान के पदाधिकारी ने क्षेत्रीय लोगों का आने का आमंत्रण दिया. इसके बाद उत्सव देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग वहां पहुंचे. करीब 3 घंटे की तैयारी और लाडली को गाने बाजे के साथ गृह प्रवेश कराया गया.

home-born-daughter-after-50-years-family-members-welcomed-with-songs-flowers-were-laid-on-the-way-okk

घर में बेटी के जन्म के बाद दादा प्रदीप शर्मा ने स्थानीय स्तर पर बेटियों के जन्म पर उत्सव मनाने वाली समाज सेवी संस्था कैंप के सदस्यों को इस बात की जानकारी दी. जानकारी प्राप्त होने के बाद सेवी संस्था के सदस्य मेहगांव सुशील के घर आए. सर्वप्रथम बेटी के आगमन पर रास्ते में फूल बिछाए, तुला दान किया, पैरों के पद चिन्ह लिए. इसके साथ ही गाने बाजे के साथ गृह प्रवेश कराया. [image source: google]