ऐसे घरों से रूठ कर चली जाती है मां लक्ष्मी, जहां नहीं रखा जाता है इन सब बातों का ध्यान

हिंदू धर्म में मां लक्ष्मी को धन की देवी माना जाता है. हर हिंदू घरों में मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना जरूर होती है. ऐसे धार्मिक मान्यता है कि मां लक्ष्मी की पूजा करने से जीवन में धन, ऐश्वर्य, सुख समृद्धि और संपन्नता की प्राप्ति होती है.

शास्त्रों में मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए कई उपाय और पूजा पाठ की विधि बताई गई है. ऐसे में आइए जानते हैं किन स्थितियों में घर में मां लक्ष्मी का आगमन होता है.

शास्त्रों के मुताबिक धन की देवी महालक्ष्मी जिस जगह पर निवास करती हैं वहा साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाता है. जिन घरों में घर की औरतें साफ सफाई का ख्याल रखती हैं उस घर में मां लक्ष्मी हमेशा निवास करती हैं.

वहीं जिन घरों में साफ-सफाई नहीं होती है तथा मुख्य दरवाजे पर कूड़े-कचरे फैले होते हैं वहां कभी माता लक्ष्मी का निवास नहीं होता है. इसके अलावा जिन घरों में जूते-चप्पल बिखरे पड़े होते हैं उस घर में दरिद्रता का वास होने लगता है.

ऐसी मान्यता है कि मां लक्ष्मी का स्थान हमेशा उत्तर दिशा में होना चाहिए. घर की उत्तर दिशा को हमेशा साफ रखना चाहिए ऐसा करने से धन से जुड़ी समस्या नहीं आती है.

शास्त्रों में लिखा गया है कि झाडू में मां लक्ष्मी का वास होता है. झाड़ू को हमेशा घर में ऐसे स्थान पर रखना चाहिए जिससे इस पर आसानी से किसी की नजर ना पड़े.

और इस बात का ध्यान अवश्य रखना चाहिए कि झाड़ू पर भूलकर भी पैर नहीं लगाना चाहिए. ऐसी मान्यता है कि झाडू में पैर लगाने से धन की हानि होती है.

घर में झूठे बर्तन नहीं रखनी चाहिए. ऐसा करने से घर में माता लक्ष्मी का वास नहीं होता है. इसके अलावा किचन में जूठे बर्तन रखने पर मां लक्ष्मी रूठ जाती हैं

जिन घरों में नियमित रूप से सुबह शाम मां लक्ष्मी, भगवान विष्णु और शंख की पूजा की जाती है. ऐसी जगह पर माता लक्ष्मी का वास हमेशा होता है.

(Disclaimer: यहां दी गई सारी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है.. My baatchit इनकी पुष्टि नहीं करता है..)

यह भी पढ़ें-: