कलयुग के दानवीर कर्ण बने डॉ अरविंद गोयल, गरीबों के लिए दान कर दी 600 करोड़ रुपए की संपत्ति, अपने लिए रखा सिर्फ एक घर

सोशल मीडिया पर आएं दिन ऐसी खबर देखने में सुनने को मिलती है जिसे जानने के बाद हम आश्चर्य हो जाते हैं. वैसे तो हमने कई दान वीरों को देखा है जिसमें गरीबों के लिए अपनी संपत्ति दान की है लेकिन आज हम आपको उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में रहने वाले समाजसेवी और उद्योगपति डॉ अरविंद कुमार गोयल से रूबरू कराने जा रहे हैं जिन्होंने अपनी सारी संपत्ति गरीबों को दान कर दी. ऐसा बताया जा रहा है कि इनकी संपत्ति की कुल कीमत लगभग 600 करोड़ रुपए है.

बता दें कि अरविंद गोयल ने यह दान राज्य सरकार को दिया है जिसका इस्तेमाल गरीबों की मदद के लिए किया जाना है. उन्होंने अपने पास सिर्फ मुरादाबाद सिविल लाइंस स्थित एक कोठी रखी है. डॉ अरविंद गोयल उत्तर प्रदेश राजस्थान महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में 100 से ज्यादा शिक्षक संस्थान, वृद्धा आश्रम और अस्पताल में ट्रस्टी हैं, इतना ही नहीं बल्कि Covid  के दौरान भी मुरादाबाद के 50 गांव को गोद लेकर उन्होंने लोगों को खाना खिलाया था और दवा का इंतजाम किया था.

डॉ अरविंद गोयल के पिता प्रमोद कुमार और मां शकुंतला देवी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे. उन्हें चार बार राष्ट्रपति सम्मानित कर चुके हैं. डॉक्टर गोयल ने सोमवार रात संपत्ति दान करने का ऐलान किया. इस फैसले में डॉक्टर गोयल के साथ उनके परिवार का हर सदस्य का समर्थन है. डॉक्टर गोयल का कहना है कि उन्होंने 25 साल पहले ही अपनी सारी संपत्ति दान करने की ठान ली थी.

डॉक्टर गोयल ने सारी संपत्ति दान करने के पीछे का कारण बताया कि दिसंबर का महीना था.. मैं ट्रेन से कहीं जा रहा था तभी सामने से एक गरीब आदमी ठंड से ठिठुरता नज़र आया. उस गरीब व्यक्ति के पास ना तो चादर थी.. और ना पैरों में चप्पल. उस आदमी को देखकर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने अपने जूते उतारकर उसे दे दिए लेकिन कड़ाके की ठंड होने की वजह से मेरी भी हालत खराब होने लगी. उस दिन मैंने सोचा कि इसकी तरह ना जाने कितने लोग इस कड़ाके की ठंड में ठिठुरते होंगे. तभी से मैं गरीबों और बेसहारों की मदद करता रहा हूं.

Read Also: