सावधान: दूध के साथ भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन, हो सकती है यह गंभीर बीमारी

आज की आधुनिक विज्ञान और लगभग हजारों साल पहले विकसित हुए आयुर्वेद की मानें तो दूध को एक संपूर्ण आहार माना गया है। दूध में हमें सभी प्रकार के पोषक तत्व जैसे फैट, कार्बोहाइड्रेट, मिनरल्स, प्रोटीन और विटामिन B1, B2, B12 और D मिलते हैं। इसीलिए नवजात शिशु को सबसे पहले मां का दूध ही पिलाया जाता है जो कि शिशु के शरीर में ताकत और इम्यूनिटी को स्ट्रांग करता है। आज के लेख में हम आपको बताएंगे कि हमें दूध के साथ किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। यह चीजें हमारे सेहत के लिए काफी नुकसानदायक होती हैं।

उचित समय पर करें दूध का सेवन-: डॉक्टर के अनुसार दूध अपने आप में पूर्ण है और इसे पचाने के लिए हमारे पाचन तंत्र को कोई मेहनत नहीं करनी पड़ती। लेकिन यह जरूरी है कि दूध का सही वक्त पर सेवन किया जाए। दूध पीने का सबसे उत्तम समय रात को खाना खाने के बाद बताया गया है। लेकिन अगर आप बॉडीबिल्डिंग करते हैं तो दूध सुबह पियें।दूध में अश्वगंधा मिलाकर पीने से नींद अच्छी आती है और हमारी याददाश्त अच्छी होती है। दूध में त्रिफला मिलाकर पीने से या हमारी नेत्रों की शक्ति बढ़ती है।

सीमित मात्रा में करें स्मूदी का सेवन-: गर्मियों का मौसम शुरू हो गया है। इन दिनों कई फ्रूट्स को आपस में मिक्स करके दूध के साथ ब्लेंड करके स्मूदी बनाने का चलन है। लोग कई फ्रूट्स को एक साथ मिलाकर दूध में ब्लेंड करके स्मूदी बनाकर पीते हैं लेकिन यह हमारे सेहत पर बुरा असर डालता है। आयुर्वेद के अनुसार पाइनएप्पल, केले, संतरे और स्ट्रॉबेरी जैसे फल पचने के समय पेट में गर्मी पैदा करते हैं जबकि दूध की तासीर ठंडी होती है और स्मूदी में लोग अक्सर बर्फ मिला लेते हैं। इन फलों और दूध की प्रकृति एकदम उलट होने के कारण बॉडी में कई प्रकार के एलर्जी, जुखाम,सर्दी और खांसी की समस्या हो जाती है।

ना करें दूध और मछली का सेवन-: हमारे आयुर्वेद में हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कई नुस्खे बताए गए हैं और कई चीजों को निषेध भी किया गया है। इसमें एक साथ दूध और मछली का सेवन करना भी है। हमारे आयुर्वेद में इसे पूर्णतया निषेध बताया गया है। जैसा कि हमने आपको बताया कि दूध को पचाने में बिल्कुल भी समय नहीं लगता लेकिन अगर इसे मांस के साथ सेवन किया जाए तो इसे पचाने के लिए हमारे पाचन तंत्र को अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ती है जो हमारे बॉडी की सुरक्षा प्रणाली को नुकसान पहुंचाती है।

खतरनाक है दूध और तरबूज का सेवन-: आपने अक्सर तरबूज के साथ दूध मिलाकर स्मूदी बिकते हुए देखा होगा। लेकिन यह भी हमारे सेहत के लिए अच्छा नहीं होता। तरबूज के बारे में एलोपैथी चिकित्सा पद्धति कहती है कि “Eat Them Alone Or Leave Them Alone”मतलब इसे या तो अकेले खाएं या अकेले छोड़ दें। इसीलिए अगली बार दूध के साथ इन फलों का उपयोग ना करें।