रील लाइफ में 182 बार मर’कर भी दर्शकों के दिल में जिंदा है आशीष विद्यार्थी, असल जिंदगी में भी हो चुका है मौ’त से सामना

किसी फिल्म को हिट करने में जितना योगदान अभिनेता का रहता है ठीक उतना ही योगदान उस फिल्म के खलनायक का भी होता है. वैसे तो बॉलीवुड में कई अभिनेताओं ने खलनायक की भूमिका निभाई है जैसे अमरीश पुरी साहब, गुलशन ग्रोवर, मुकेश ऋषि डैनी और आशीष विद्यार्थी. आज हम बात करेंगे आशीष विद्यार्थी (ashish vidyarthi) के बारे में जिन्होंने अपने एक्टिंग के दम पर एक खास मुकाम हासिल की.

इसे भी पढ़ें-: अगर न हुई होती यह एक गलती तो डॉक्टर नेने कि नहीं बल्कि संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित

Ashish Vidyarthi is alive in the hearts of the audience even after dying 182 times in reel life, has faced death in real life too.

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि खलनायक का रोल करते-करते आशीष विद्यार्थी ने फिल्म में 182 बार मरने का सीन कर चुके हैं. बता दे कि इन्होंने हिंदी के साथ-साथ तमिल, तेलुगू, मलयालम, बंगाली जैसी कई भाषाओं की फिल्मों में भी अपने अभिनय का लोहा मनवाया है.
आशीष विद्यार्थी भले ही फिल्मों में झूठ मुठ में मरने की एक्टिंग करते हैं लेकिन उन्होंने बताया कि एक बार असल जिंदगी में भी मौत से सामना हो चुका है. (ashish vidyarthi)

इसे भी पढ़ें-: बिहार के भागलपुर में जन्मा अंग्रेज जैसा दिखने वाला बच्चा, परिजन और डॉक्टर हुए हैरान-परेशान

Ashish Vidyarthi is alive in the hearts of the audience even after dying 182 times in reel life, has faced death in real life too.

दरअसल एक फिल्म की शूटिंग के दौरान उन्हें पाने में उतरना था लेकिन आशीष ने बिना पानी की गहराई का अंदाजा लगाएं बिना उस गहरे पानी में चले गए और असलियत में डूबने लगे लेकिन लोगों को यह भ्रम हुआ कि शायद वह एक्टिंग कर रहे हैं. इसलिए उन्हें भी बचाने नहीं आया लेकिन उनकी सुरक्षा में लगे उनके बॉडीगार्ड को उनकी छटपटाहट देखकर शक हुआ और वह पानी में कूदकर उनकी जान बचाई.

इसे भी पढ़ें-: स्नान करवाते समय टूटा लड्डू गोपाल का हाथ, रोते-रोते अस्पताल पहुंचा पुजारी, डॉक्टरों ने किया प्लास्टर

Ashish Vidyarthi is alive in the hearts of the audience even after dying 182 times in reel life, has faced death in real life too.

अगर उन्हें बचाने में थोड़ी देर हो जाती तो शायद आशीष विद्यार्थी (ashish vidyarthi) आज हमारे बीच नहीं होते. बाद में उस फिल्म के डायरेक्टर को बहुत सारी गालियां पड़ी थी. आशीष विद्यार्थी (ashish vidyarthi) ने हसीना मान जाएगी, बाजी, जीत, नाजायज, सोल्जर, मेजर साहब, जिद्दी और अर्जुन पंडित जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्मों में खलनायक का किरदार निभाया है. इतना ही नहीं उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के लिए नेशनल अवार्ड भी मिल चुका है.

इसे भी पढ़ें-: मात्र 1500 रुपए लेकर आई थी मुंबई, किस्मत ने दिया साथ और बन गई करोड़ों की मालकिन

Ashish Vidyarthi is alive in the hearts of the audience even after dying 182 times in reel life, has faced death in real life too.