20 सालों से अपनी बूढ़ी मां को तीर्थ यात्रा करवा रहा यह शख्स, भावुक हुए अनुपम खेर, कहां मदद करना चाहता हूं

सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म है जहां चंद मिनटों में हमें देश विदेश की खबरें देखने और सुनने को मिल जाती है. आज के युग का एक बेटा श्रवण कुमार की तरह ही अपनी बूढ़ी नेत्रहीन मां को बहंगी पर बिठाकर तीर्थ यात्रा करवा रहा है. यह शख्स लगभग 20 साल से यह नेक कार्य कर रहा है. मां के प्रति इतना प्यार देखकर अभिनेता अनुपम खेर भी बेचैन हो गए हैं.

अनुपम खेर आज के जमाने के श्रवण कुमार को ढूंढ रहे हैं जिससे कि वह शख्स की मदद कर सकें. उन्होंने सोशल मीडिया पर लोगों से इस शख्स का पता मांगा है. अनुपम खेर इस शख्स की मदद करते हुए इनकी मां के साथ सारे तीर्थ यात्रा का खर्चा उठाना चाहते हैं.

आपको बता दें कि यह सारी कहानी एक सोशल मीडिया तस्वीर से शुरू हुई. अनुपम खेर ने जब इस वायरल तस्वीर को देखा तो वह बेचैन हो उठे. तस्वीर में एक शख्स ने अपनी मां को बहंगी में बिठाए नजर आ रहा था. जानकारी के मुताबिक इस शख्स का नाम कैलाश गिरी ब्रह्मचारी है जो 20 साल से अपने नेत्रहीन मां को तीर्थ यात्रा का दर्शन करवा रहा है.

वायरल हुई तस्वीर में आप देख सकते हैं कि कैलाश गिरी ने अपने कंधे पर बहंगी उठा रखी है. बहंगी की एक टोकऱी में उन्होंने बूढ़ी मां को बिठाया है और दूसरी टोकरी में सामान रखा है. यह तस्वीर देखने के बाद अनुपम खेर भावुक हो गए उन्होंने इस वायरल तस्वीर को अपने टि्वटर हैंडल पर शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा कि इस तस्वीर के साथ जो कहानी बताई गई है.

 

वह दिल छू गई. प्रार्थना करता हूं कि यह सच है अगर किसी को इस शख्स के बारे में कुछ भी पता चले तो मुझे अवश्य बताएं. अनुपम केयर्स इनकी मां के साथ सारे तीर्थ यात्राओं पर खर्च स्वयं वहन करेगा. ताउम्र कैलाश जहां भी मां के साथ तीर्थ यात्रा करेगा उनका सारा खर्च मैं उठाऊंगा.

आपको बता दे की अनुपम केयर्स अनुपम खेर की एक चैरिटेबल संस्था है जिसके जरिए बहुत गरीब और जरूरतमंद बच्चों की शिक्षा के लिए काम करते हैं. इसके अलावा उनकी यह संस्था गंभीर बीमारी के शिकार बच्चों और बड़ों के इलाज में भी सहयोग करता है.

Read Also: