उम्र 181 साल.. मौ’त भूल गई है इनके घर का रास्ता, मौ’त के लिए रोज तड़प’ता है यह बुजुर्ग

दुनिया में सबसे लंबी उम्र जीने वाले लोगों को फरिश्ता कहा जाता है. बता दे कि सबसे लंबी उम्र के जीने का रिकॉर्ड जापान के किमोरा के नाम है. किमोरा 116 वर्ष जिंदा रहे थे लेकिन 2018 में उनका देहांत हो गया. आज हम आपको एक ऐसे शख्स से रूबरू कराने जा रहे हैं जो कि 185 साल का हो चुका है और वह भारत के उत्तर प्रदेश में ही रहते है.

इसे भी पढ़ें-: कुंडली भाग्य की संस्कारी बहू मालदीव जाकर हुई बो’ल्ड, बिकनी में दिखाया अपना परफेक्ट फिगर

हालांकि इतनी ज्यादा उम्र के बाद उनकी हालत बेहद जीर्ण-शीर्ण है. मगर वो बातें भी करते हैं और कहते हैं कि मौ’त उनके घर का रास्ता भटक गई है क्योंकि वह स्वयं मौ’त का इंतजार कर रहे हैं. आपको बता दें कि इस व्यक्ति का नाम मुरासी है और इनका जन्म 1835 में हुआ था सन 1903 में यह अपने जन्म स्थान से बनारस शिफ्ट हुए.

इसे भी पढ़ें-: पिता के पास बचे थे सिर्फ 6 महीने, बेटे ने अपना लीवर दान कर पिता को दी नई जिंदगी

मुरासी बताते हैं कि उनके सामने उनकी 4 पीढ़ियां खत्म हो गई है लेकिन वह आज भी जिंदा है. मुरासी ने यह भी बताया कि लोग उनकी बातों का विश्वास नहीं करते लेकिन उनके पास जन्म का सारा प्रमाण पत्र है. इतनी लंबी जिंदगी जीने के कारण मुरासी हॉस्पिटल आइकॉन बन गए है कई सारे डॉक्टर ने उनके शरीर की जांच भी की और कई प्रेस नोट भी लिखें.

इसे भी पढ़ें-: सूरत के ऐसे हीरा व्यापारी जिन्होंने अब तक 3000 बेसहारा लड़कियों का किया कन्यादान, 9 साल से कर रहे हैं यह पुण्य काम

मुरासी से पहले कई प्रेस नोट में भी नजर आ चुके हैं आखिरकार डॉक्टर भी हैरान है कि मुरासी इतनी लंबी उम्र कैसे जी रहे हैं??  बहुत सारे लोग उनसे मिलने के लिए आते हैं मगर दुख की बात यह है कि कोई उनकी आर्थिक मदद नहीं करता. मुरासी अब अपने पोते के पोते के घर बनारस में रहते हैं और वही परिवार के लोग मुरासी की देखभाल करते हैं.

इसे भी पढ़ें-: कभी ‘महाभारत’ में ‘भीम’ के किरदार से हुए थे लोकप्रिय, आज पाई-पाई को मोहताज हुए प्रवीण कुमार सोबती