शादी के 42 साल बाद दूल्हा बैंड-बाजा और बारात के साथ पत्नी को लाने पहुंचा ससुराल, उसके 8 बेटा-बेटी बने बाराती

इन दिनों शादियों का सीजन चल रहा है और लोग शादियों के इस सीजन में विवाह के बंधन में बंध कर अपनी नई जिंदगी की शुरुआत कर रहे हैं. इन दिनों कई शादियां ऐसी थी जो काफी चर्चित रही. एक ऐसी अनोखी शादी बिहार के सारण जिले में देखने को मिली है जिसकी हर तरफ खूब चर्चा हो रही है.

दरअसल शादी में 70 साल का दूल्हा बैंड बाजा और बारात के साथ अपनी पत्नी को लाने ससुराल पहुंचा दूल्हा. अपने सफेद मूछों पर ताव देते हुए ससुराल पहुंचा तो लोग देखते ही रह गये. इतना ही नहीं उनके 7 बेटियां और 1 बेटा भी बराती बने. अब यह अनोखी शादी पूरे इलाके में एक चर्चा का विषय बना हुआ है.

दरअसल बैंड बाजा लेकर दूल्हे के रूप में शख्स शादी के लिए नहीं जा रहा बल्कि 42 साल पहले उसकी शादी हुई थी. वह अपनी ही शादी के बाद पत्नी का गौना करवाने निकला था. पूरी बिहार में शादी की चर्चा हो रही है. इसमें दूल्हे को तोहफे में बुलेट गाड़ी और हीरे की अंगूठी भी मिली.

आपको बता दे दूल्हा बने राजकुमार सिंह की शादी 5 मई 1990 में संपन्न हुई थी लेकिन उनके साथ ससुर नहीं होने की वजह से गौना की रस्म नहीं हो पाई. उस दौरान उनके साले भी काफी छोटे थे. जब उनके साले बड़े हुए उन्होंने इच्छा जताई कि अब दीदी का गौना हो जाए. वही बुजुर्ग राजकुमार के सभी बच्चों ने मिलकर यह अनूठा रास्ता निकाला.

राजकुमार के सभी बच्चों ने गौना की रस्म पूरी करने के लिए मां शारदा देवी को 15 अप्रैल 2022 को ही उनके मायके भेज दिया था. उसके बाद शादी की तारीख यानी 5 मई को ही एक बार फिर पिताजी को घोड़े वाली बग्गी पर बैठा कर ले गए और साथ ही गाने, बाजी, बैंड, आर्केस्ट्रा के साथ बिल्कुल बारात जैसे माहौल में बहुत से लोग इस शादी में शामिल हुए.

राजकुमार सिंह और शारदा देवी उम्र के इस पड़ाव में दूल्हा दुल्हन बनकर काफी प्रसन्न थे. इस रस्म में सिंदूरदान को छोड़कर सभी रस्म को निभाया गया. इतना ही नहीं बल्कि दूल्हा राजकुमार को दहेज में बुलेट गाड़ी और हीरे की अंगूठी भी मिली. वही दुल्हन शारदा देवी को तमाम आभूषण मिले जिसके बाद शारदा देवी की विदाई की गई.

आपको बता दें कि शादी के बाद राजकुमार सिंह और शारदा देवी सात बेटियों और एक बेटे के माता-पिता हैं. जो अब काफी बड़े हो गए हैं राजकुमार सिंह की 7 बेटियां बिहार पुलिस, बिहार उत्पाद पुलिस सेना और केंद्रीय पुलिस बल में शामिल है,