उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में हुआ दर्दनाक हादसा, एक साथ उठी 13 अर्थियां, मातम में बदल गया शादी का उत्सव

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले से एक बेहद दिल दहलाने वाली घटना सामने आ रही है। शादी में हल्दी की रस्म निभाने गई 7 नाबालिगों समेत 13 महिलाओं की दर्दनाक मौत हो गई। यह हादसा कुशीनगर के नेबुआ नौरंगिया जिले के नौरंगिया टोला गांव में हुआ। अगले ही पल में सारी खुशियां सन्नाटे में में तब्दील हो गईं।

कुएं में गिरने से हुई मौत-: दरअसल यह सभी महिलाएं एक शादी उत्सव में मटकोर के रस्मो रिवाज के लिए गांव के सिवान पर गई थी। गांव के मुहाने पर एक पुराना कुआं था। जिस पर एक जर्जर स्लैब पड़ा हुआ था। गांव वासियों के मुताबिक यह स्लैब करीब 20 वर्ष पुराना था और इसे लगातार बदलने की मांग हो रही थी..

लेकिन माननीय ने इस पर ध्यान नहीं दिया। बताया जाता है कि मटकोर की रसम को देखने के लिए बड़ी संख्या में महिलाएं कुएं के जर्जर स्लैब पर चढ़ गईं। अत्याधिक वजन के कारण कुए का स्लैब चरमरा कर टूट गया और महिलाएं कुए के अंदर गईं।

महिलाओं समेत सात नाबालिगों की मौत-: इस दर्दनाक हादसे में महिलाओं समेत 7 नाबालिग बच्चियों की भी दर्दनाक मृत्यु हुई है। यह सभी लोग सज धज कर हल्दी में मटकोर की रस्म निभाने गांव के सिवान पर पहुंचे थे पर किसे पता था कि वहां से वह कभी वापस नहीं आएंगे। इस हादसे पर प्रधानमंत्री मोदी ने शोक जताया है।

प्रदेश सरकार देगी आर्थिक सहायता राशि-: उत्तर प्रदेश के योगी सरकार ने इस दर्दनाक घटना पर बेहद दुख प्रकट किया है और मृतकों के परिवारजनों के प्रति सांत्वना जाहिर की है। उन्होंने इस घटना के तत्काल जांच के आदेश दे दिए हैं।

उन्होंने मृतक के परिवार को पीएम फंड से ₹200000 आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। वही गंभीर रूप से घायलों के परिजनों को ₹50000 की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है। रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान प्रशासन के आला अधिकारी घटनास्थल पर उपस्थित थे।

यह भी पढ़े-: