गुजरात: 70 साल की बुजुर्ग महिला बनी मां, 45 साल बाद घर में गूंजी किलकारी

शादी के बाद हर औरत चाहती है कि वह अपनी संतान को जन्म दे लेकिन कुछ महिलाएं इस सुख से वंचित रह जाती है. 2018 में आई आयुष्मान खुराना की फिल्म ”बधाई हो” तो आप सबको याद ही होगी इस फिल्म की कहानी यह होती है कि एक महिला अंधेड़ उम्र में जाकर बच्चे को जन्म देती है.

इसे भी पढ़ें-: मजदूरी करके चलाती थी घर, इनकम टैक्स विभाग ने मारा छापा तो निकली 100 करोड़ की मालकिन

हाल ही में एक मामला सामने आया है जिसमें सब को हिला कर रख दिया है. बता दे  70 वर्षीय महिला ने बच्चे को जन्म दिया. यह पूरा मामला गुजरात कच्छ के केमोरा गांव का है जहां एक 70 वर्षीय महिला ने बच्चे को जन्म दिया है. घर वालों ने बताया कि शादी के 45 साल बाद उनके घर में बच्चे की किलकारी गूंजी है और पूरे गांव में खुशी का माहौल है. महिला ने  45 साल बाद वैज्ञानिक तकनीकी यानी आईवीएफ के जरिए एक बच्चे को जन्म दिया.

इसे भी पढ़ें-: उम्र 181 साल.. मौ’त भूल गई है इनके घर का रास्ता, मौ’त के लिए रोज तड़प’ता है यह बुजुर्ग

इस मामले की जानकारी डॉक्टर नरेश भानूशाली ने दिया है उन्होंने कहा है कि जब यह दंपत्ति उनके पास आया तो उन्होंने उन्हें खूब समझाया कि आपकी उम्र बहुत ज्यादा है और बच्चा होने का कोई चांस नहीं है. जैसा हमें लगा हमने उस दंपति को बता दिया लेकिन कहा जाता है ना कि भगवान को जो मंजूर हो से कौन टाल सकता है.

इसे भी पढ़ें-: पिता के पास बचे थे सिर्फ 6 महीने, बेटे ने अपना लीवर दान कर पिता को दी नई जिंदगी

डॉ नरेश भानूशाली ने आगे जानकारी देते हुए कहा कि हमारे परिवार के अन्य लोगों को भी बढ़ती उम्र के साथ संतान सुख की प्राप्ति हुई है. वह आगे बताते हुए कहते हैं कि आप कृपया करके अपनी तरफ से कोशिश कीजिए फिर हमारी किस्मत है जो हमारे साथ हो हम दंपति को मंजूर होगा.. 70 वर्षीय महिला ने उम्मीद नहीं छोड़ी और आखिरकार उसकी उम्मीद पूरी हो गई. बच्चे को जन्म देने के बाद महिला फूले नहीं समा रही तो वही उनके परिवार के लोग भी बेहद खुश नजर आ रहे..

इसे भी पढ़ें-: शादी के 35 साल बाद मां बनने का मिला सौभाग्य, 55 साल की उम्र में दिया 3 बच्चों को जन्म