1947: देश का बंटवारा हुआ तो जुदा हो गए यह दो भाई, 74 साल बाद करतारपुर में मिले, खूब रोये

सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म है जहां चंद मिनटों में हमें देश विदेश की खबरें देखने में सुनने को मिल जाती है. एक ऐसा ही मामला करतारपुर से सामने आया है जिसे जानने के बाद आपकी आंखें नम हो जाएंगी. जी हां आपको बता दें कि 1947 में भारत पाकिस्तान के बंटवारे के बाद मोहम्मद सिद्दीकी बच्चे थे. उनका परिवार बिखर गया. सिद्दीकी के भाई हबीब उर्फ शेला बंटवारे के बाद भारत में पले बढ़े लेकिन अब 74 वर्ष के बाद करतारपुर कॉरिडोर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब में दोनों मिले.

सोशल मीडिया पर इन दोनों भाइयों का वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इसे देख कर लोग काफी इमोशनल हो रहे है और तरह-तरह की अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के माने तो मोहम्मद सिद्दीकी पाकिस्तान के फैसलाबाद में रहते हैं जबकि उनके भाई भारत के पंजाब में रहते हैं. करतारपुर में दोनों एक दूसरे को देख इमोशनल हो गए. दोनों भाई गले लगा कर रोते नजर आए.

सोशल मीडिया पर दोनों भाइयों की मुलाकात का वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें दोनों भाई करतारपुर कॉरिडोर में गले लग कर रोते हुए दिखाई दे रहे हैं. उनके साथ कुछ लोग भी हैं वीडियो में दोनों भाई एक दूसरे को भावुक होकर गले लगाते नजर आए.

दोनों भाइयों ने भारत और पाकिस्तान की सरकार को करतारपुर कॉरिडोर खोलने पर धन्यवाद दिया है. कॉरिडोर के माध्यम से भारत के लोग बिना वीजा के पाकिस्तान करतारपुर जा सकते हैं यह कॉरिडोर नवंबर 2019 में शुरू किया गया था.